Latest Post

4/recent/ticker-posts

What is Data Backup and why is it important || कम्प्युटर मे डाटा का बैकअप लेना क्यो आवश्यक है?

 

What is Data Backup (डाटा बैकअप क्या होता है)


कम्प्युटर मे डेटा बैकअप एक प्रक्रिया है जिसमें सिस्टम या डिवाइस पर संग्रहित की जाने वाले जानकारी की कॉपी बनाई जाती है, ताकि जब भी भविष्य मे डाटा मे कोई त्रुटि या डेटा हानि हो, तो इसे पुनर्स्थापित (दोबारा) किया जा सके।


Why Data Backup is important 

(Data का Backup लेना क्यो आवश्यक है)  


कंप्यूटर में बैकअप का महत्व निम्नलिखित है :-

1. Data Security: बैकअप एक महत्वपूर्ण सुरक्षा कदम है जो आपके कंप्यूटर पर सभी महत्वपूर्ण डेटा को सुरक्षित रखता है। यह आपको डेटा हानि, तकनीकी खराबी या अन्य समस्याओं के खिलाफ सुरक्षित रखता है।

2. Data loss: कंप्यूटर के इस्तेमाल के दौरान अकस्मात या हानिकारक स्थितियों में, जैसे कि हैकिंग, वायरस अटैक, या हार्डवेयर फेलियर । बैकअप आपको इस प्रकार की स्थितियों से बचाव करने में मदद करता है।


What is Data Backup and why is it important in hindi


3. Protecting hard work: आपने बनाए गए डेटा और फ़ाइलों में बहुत सारे समय और मेहनत लगाई होती है। यह सुनिश्चित करना महत्वपूर्ण है कि यह सभी जानकारी सुरक्षित रहे ताकि आप इसे बार-बार पुनर्प्राप्त करने की जरूरत ना पड़े।

4.Reconstruction Facility: बैकअप से यह भी सुनिश्चित होता है कि आप अपनी जरूरत के हिसाब से डेटा को पुनः प्राप्त कर सकते हैं, ताकि आप बिना किसी कठिनाई के काम कर सकें।

5. Maintaining Functionality: बैकअप आपको नए सॉफ़्टवेयर इंस्टॉल करने, सिस्टम को अपग्रेड करने या किसी और तरीके से कंप्यूटर को सुधारने की स्वतंत्रता देता है, क्योंकि आप जानते हैं कि आपके मौलिक डेटा कभी भी उपलब्ध हैं।

6. Preparation for emergency situations: किसी भी प्रकार की आपत्तिकल्पी स्थिति में, जैसे कि हार्डवेयर समस्या, आप बैकअप के माध्यम से तेजी से स्थिति को पुनर्निर्माण कर सकते हैं और कंप्यूटर को शीघ्र सुधार सकते हैं।

डेटा बैकअप को सुरक्षित रखना महत्वपूर्ण है क्योंकि यह आपके महत्वपूर्ण डेटा को नष्ट होने से बचाता है और सुनिश्चित करता है कि आपकी जानकारी को सुरक्षित रखा जा सके।

अगर आपके सिस्टम में कोई कमी हो जाती है, तो डेटा बैकअप से आप अपनी जानकारी को बर्बाद होने से बचा सकते हैं। यह स्वतंत्र या ऑटोमेटेड रूप से किया जा सकता है और इससे आपको डेटा खोने का डर कम होता है।

डेटा बैकअप करने का एक और महत्वपूर्ण कारण है कि इससे आप अपनी जानकारी को किसी भी अनजाने हादसे या साइबर हमले से बचा सकते हैं। यदि कोई कंप्यूटर वायरस या मैलवेयर आपके सिस्टम में प्रवेश कर जाता है, तो वह आपके डेटा को नष्ट कर सकता है, लेकिन डेटा बैकअप के माध्यम से आप अपनी जानकारी को पुनः प्राप्त कर सकते हैं।

संक्षेप में, डेटा बैकअप आपकी जानकारी को सुरक्षित रखने और उसे नुकसान से बचाने का एक महत्वपूर्ण और आवश्यक प्रक्रिया है।


Which device is used to backup the data?


कंप्यूटर में डेटा की बैकअप करने के लिए कई उपकरण हैं। यहां कुछ प्रमुख उपकरणों का उल्लेख है:-

1. External Hard Drive (बाह्य हार्ड ड्राइव): यह एक लोकल उपाय है जिसमें आप अपने कंप्यूटर के डेटा की पूरी कॉपी बना सकते हैं।

2. USB Flash Drive (यूएसबी फ्लैश ड्राइव): छोटे आकार के यूएसबी फ्लैश ड्राइव का उपयोग कंप्यूटर डेटा की सुरक्षित रखने के लिए किया जा सकता है।

3. Network Attached Storage (NAS) (नेटवर्क एटेच्ड स्टोरेज): यह एक नेटवर्क के माध्यम से कनेक्ट होने वाला एक स्टोरेज डिवाइस है जिसमें आप अपने डेटा को सुरक्षित रख सकते हैं।


which device use the data backup in hindi


4. Cloud Storage Services (क्लाउड स्टोरेज सेवाएं): आप अपने डेटा को इंटरनेट के माध्यम से क्लाउड स्टोरेज सेवाओं में भी बैकअप कर सकते हैं, जैसे कि Google Drive, Dropbox, और OneDrive

5. External SSD (बाह्य एसएसडी): यह भी एक तेजी से डेटा स्टोर करने के लिए उपयोग किया जा सकता है।

इनमें से कोई भी उपकरण चयन करने से पहले, आपको अपनी आवश्यकताओं और बजट का ध्यान रखना चाहिए।


Types of backup in Computer (डाटा बैकअप के प्रकार)


कंप्यूटर में बैकअप के विभिन्न प्रकार हैं, जिनमें से कुछ प्रमुख हैं:-

1. पूर्ण बैकअप (Full Backup): इसमें सभी फ़ाइलें और डेटा एक साथ सहेजे जाते हैं। यह प्रक्रिया समय-रोजी संग बड़ी स्थान और संसाधनों की जरूरत होती है, लेकिन पूरी तरह सुरक्षित होती है।

2. इंक्रीमेंटल बैकअप (Incremental Backup): इसमें केवल उन फ़ाइलों को सहेजा जाता है जिनमें तबादला हुआ है, यानी पिछली पूर्ण बैकअप के बाद के बदले गए फ़ाइलें। यह समय और संसाधनों की बचत करता है, लेकिन इसका पुनर्स्थापना अधिक समय लेता है क्योंकि सभी इंक्रीमेंटल बैकअप्स की आवश्यकता होती है।

3. डिफ़रेंशियल बैकअप (Differential Backup): इसमें वही फ़ाइलें सहेजी जाती हैं जिनमें पिछले पूर्ण बैकअप के बाद कोई तबादला हुआ हो। यह इंक्रीमेंटल बैकअप की तरह है, लेकिन पुनर्स्थापना में इंक्रीमेंटल बैकअप की तुलना में तेज होता है।

4. मिरर बैकअप (Mirror Backup): इसमें आपके सिस्टम के सभी फ़ाइलें एक सीधे प्रति मिरर किये जाते हैं। इससे एक पूर्ण सहायक कॉपी मिलती है जो बिना किसी तबादला के होती है।

5. लॉजिकल बैकअप (Logical Backup): इसमें डेटाबेस, फ़ाइलों, और अन्य ऑब्जेक्ट्स को सहेजा जाता है, जिससे इन्फॉर्मेशन को सांगत्यपूर्वक पुनर्स्थापित किया जा सकता है।

बैकअप की प्रक्रिया अद्यतित रूप से होनी चाहिए ताकि डेटा को सुरक्षित रखा जा सके और किसी भी नुकसान के मामले में इसे पुनर्स्थापित किया जा सके।


What is Restore in Computer (डाटा रिकवरी क्या है)


कंप्यूटर में डेटा रिकवरी का मतलब, कंप्यूटर से डिलीट हुई फ़ाइलों को वापस लाना.

"डेटा रिस्टोर" कंप्यूटर में एक प्रक्रिया है जिससे हम नष्ट होने वाले या मिटाए गए डेटा को पुनः प्राप्त कर सकते हैं। इस प्रक्रिया का उपयोग तब किया जाता है जब कोई फ़ाइल, फ़ोल्डर, या अन्य डेटा आपके कंप्यूटर से ग़लती से हटा दिया गया हो या फिर किसी कारण से नष्ट हो गया हो।


what is data restore in hindi


डेटा रिस्टोर की प्रक्रिया में, आप अपने सिस्टम पर एक पिछले समय की बैकअप या सहेजे गए कॉपी का उपयोग करते हैं जिससे आप अपने गुम हुए डेटा को पुनः प्राप्त कर सकते हैं। इसके लिए कंप्यूटर उपयोगकर्ता को उपयोगकर्ता द्वारा चयनित बैकअप स्थान का चयन करने दिया जाता है और फिर उस समय की स्थिति में डेटा को पुनः स्थापित किया जाता है।

यदि आपके पास नियमित बैकअप है तो आप अपने डेटा को किसी भी नष्टि के समय पर पुनः प्राप्त कर सकते हैं और इससे आपके डेटा की सुरक्षा बनी रहती है।


Cloud Computing क्या है और इसके फायदे क्या है तथा इसके जनक कौन है?

Difference between E-mail Marketing and Affiliate Marketing | ईमेल मार्केटिंग और एफिलिएट मार्केटिंग मे क्या अंतर है?

 जाने 10 सबसे कठिन सरकारी परीक्षा अगर इसमे सफल तो लाइफ हो गई सेटल |Top 10 Toughest Government Exams in India


अंत मे,

आशा है की पूरी पोस्ट पढ़ने के बाद आपको जानकारी मिल गई होगी की कम्प्युटर मे डाटा बैकअप और रिस्टोर की प्रक्रिया क्या होती है।

इसे भी पढे।


10 Main Differences between CV and Resume in Hindi

Best Computer Courses List after 12th | जाने 12वी के बाद कौन से कम्प्युटर कोर्स हो सकते है आपके लिए फायदेमंद

Best Computer Courses for Commerce Students after Graduation || जाने बी. कॉम करने के बाद कौन से कम्प्युटर कोर्स करके आप लाखो की सैलरी की जॉब पा सकते है?

TOP 10 HIGHEST PAYING JOBS IN INDIA | जाने भारत की सबसे अधिक सैलरी वाली 10 नौकरिया कौन सी है?

Difference between White Hat, Black Hat and Grey Hat Hackers in Hindi

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ