Latest Post

6/recent/ticker-posts

सेविंग बैंक अकाउंट और करेंट बैंक अकाउंट मे क्या अंतर है खोलने के लिए किन दस्तावेज़ो की आवश्यकता होती है



आज की पोस्ट मे हम जानेंगे की सेविंग बैंक अकाउंट और करेंट बैंक अकाउंट मे क्या अंतर है तथा इनको खोलने के लिए किन किन दस्तावेज़ो की आवश्यकता होती है तो जानने के लिए पूरी पोस्ट ध्यान से पढे। 

Difference between saving bank a/c and current bank a/c


Saving Bank A/c (बचत खाता)

जैसा की नाम से प्रतीत हो रहा है की बचत खाता उन लोगो द्वारा खोला जाता है जो अपनी पूंजी को बचत करना चाहते है। इसको Personal Account भी कहते है।

बचत खाता (Saving Bank A/c) खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज

बैंक में बचत खाता खोलने के लिए आवेदन फॉर्म के साथ निम्नलिखित दस्तावेज जमा करने होंगे। 

  • 2 नवीनतम पासपोर्ट आकार की तस्वीरें 
  • पहचान का प्रमाण - पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, मतदाता पहचान पत्र आदि।
  • पते का प्रमाण - पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, मतदाता पहचान पत्र आदि।
  • पैन कार्ड
  • फॉर्म 16 (केवल पैन कार्ड उपलब्ध नहीं होने पर)


Current Bank A/c (चालू खाता) 

यह खाता संस्था, फर्मों, कंपनी, कॉर्पोरेट आदि द्वारा खोला जाता है। 

चालू खाता  (Current Bank A/c)  के लिए आवश्यक दस्तावेज


  • मालिक का पासपोर्ट आकार का फोटो
  • यदि आपका फर्म पंजीकृत है तो पंजीकरण प्रमाणपत्र
  • पैन कार्ड
  • आय कर रिटर्न
  • फर्म के नाम पर बिजली, पानी या टेलीफोन जैसे उपयोगिता बिल
  • खुदरा व्यापार के मामले में ट्रेड लाइसेंस या दुकानें और स्थापना लाइसेंस।

बचत खाता और चालू खाते मे अंतर 

Difference Between Saving and Current Bank A/c

 
  • बचत खाते की तुलना में चालू खाते में हम लेनदेन बड़ी राशि और संख्या में कर है ।
  • चालू खाते की जमा पूंजी पर कोई ब्याज नहीं दिया जाता है जबकि बचत खाते में ब्याज का भुगतान किया जाता है ।
  • बचत खाते उन व्यक्तियों को पूरा करते हैं जो बचत करना चाहते हैं जबकि चालू खाते फर्मों और कंपनियों के नियमित लेनदेन के लिए बने हैं।
  • बचत खातों की मासिक लेनदेन सीमा होती है जबकि चालू खाते की नहीं होती हैं ।
  • चालू खातों की तुलना में बचत खातों में न्यूनतम बैलेंस की आवश्यकता कम होती है

बचत खाते से समबन्धित कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न


१.  बचत खातों के प्रकार ?

नियमित बचत खातों के अलावा, भारत में बैंकों में उपलब्ध कुछ अन्य प्रकार के बचत खाते निम्नलिखित हैं: 

संयुक्त खाता (Joint Account) 

यह एक बचत खाता है जिसे एक से अधिक खाताधारक द्वारा संचालित किया जा सकता है। हालांकि अधिकांश संयुक्त खातों में 2 खाताधारक हो होते है कुछ बैंक एकल खाते के 4 संयुक्त धारकों को अनुमति देते हैं। 

वरिष्ठ नागरिक बचत खाता (Senior Citizen Saving A/c)

 इस प्रकार का खाता केवल उसी व्यक्ति द्वारा खोला जा सकता है, जिसकी आयु 60 वर्ष से अधिक है। ऐसे खातों के मामले में कई शुल्क छूट और ब्याज दरें प्रदान की जाती हैं। 

नाबालिगों का खाता (Minors account)

इस प्रकार के खाते में, नाबालिग बच्चा खाते का दूसरा धारक होता है, जबकि माता-पिता या अभिभावक प्राथमिक धारक होता है। इस प्रकार का खाता माता-पिता द्वारा कम उम्र में अपने बच्चों को बैंकिंग और बचत को समझने में मदद के लिए खोला जा सकता है। 

सैलरी अकाउंट (Salary A/c)

यह एक विशेष प्रकार का बचत खाता है, जिसमें न्यूनतम बैलेंस क्लॉज को समाप्त कर दिया जाता है। एक व्यक्ति एक समय में केवल एक वेतन खाता रख सकता है.  

2. एटीएम कार्ड /डेबिट कार्ड क्या है?

एटीएम कार्ड / डेबिट कार्ड आपको अपने खाते में जमा शेष राशि का उपयोग करके कई लेनदेन करने की अनुमति देता है। सबसे पहले, आप अपने बचत खाते से जुड़े ऐसे कार्ड का उपयोग करके दिन के किसी भी समय किसी भी एटीएम से नकदी निकाल सकते हैं। इस कार्ड का उपयोग करके मोबाइल फोन रिचार्ज, बिल भुगतान, किसी अन्य व्यक्ति को धन का हस्तांतरण और बहुत कुछ कर सकते है। आप अपने एटीएम / डेबिट कार्ड का उपयोग करके किसी भी पीओएस के माध्यम से  दुकानों, रेस्तरां आदि में खरीदारी भी कर सकते हैं। 

३. NEFT Transfer क्या है?

NEFT या National Electronics Funds Transfer भारत में एक बैंक खाते से दूसरे बैंक में पैसे भेजने की एक विधि है। इस हस्तांतरण को पूरा करने के लिए आवश्यक विवरणों में लाभार्थी का नाम, लाभार्थी खाता संख्या और बैंक IFSC कोड शामिल हैं। NEFT स्थानान्तरण केवल दिन के निश्चित समय के दौरान RBI द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार किया जा सकता है। NEFT द्वारा धन का स्थानान्तरण न्यूनतम 1 और अधिकतम 10 लाख रु तक किया जा सकता है.  

४.  RTGS Transfer क्या है?

आरटीजीएस या Real Time Gross Settlement एनईएफटी के समान है आरटीजीएस के लिए न्यूनतम राशि रु 2 लाख, जबकि अधिकतम राशि रु RTGS स्थानांतरण के लिए 10 लाख तक है ।

५.  IMPS क्या है?

IMPS का मतलब Inter Bank Mobile Payment Service है। इस सेवा का उपयोग करते हुए, खाताधारक सिर्फ अपने मोबाइल फोन का उपयोग करके लाभार्थियों को पैसा भेज सकते हैं। यह सेवा 24 घंटे और यहां तक ​​कि सार्वजनिक अवकाश पर भी उपलब्ध है।  इस सेवा के लिए कुछ शुल्क देना होता है जो विभिन बैंको में अलग अलग हो सकता है. 

६-  बचत खाते पर लागू ब्याज दर क्या है?

बचत खाते पर ब्याज 4% होती है।  

अंत में 

आशा है की आपको पोस्ट पसंद आई होगी तथा आपको सेविंग बैंक अकाउंट और करेंट बैंक अकाउंट मे क्या अंतर है तथा इनको खोलने के लिए किन किन दस्तावेज़ो की आवश्यकता होती है इसकी जानकारी हो गई होगी।  अगर इस पोस्ट से सम्बंधित कोई प्रश्न हो तो आप comment कर जान सकते है।  


यह भी जाने 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां