Latest Post

4/recent/ticker-posts

How to Start Affiliate Marketing for Beginners | एफिलिएट मार्केटिंग की शुरुआत कैसे करें?

 

Affiliate Marketing for Beginners in Hindi


हर कंपनी अपनी सेल बढ़ाने के लिए  मार्केटिंग करती है। एक समय था जब मार्केटिंग के लिए मुख्य रूप से ऑफलाइन मार्केटिंग का सहारा लिया जाता था, जिसमे न्यूज़ चैनल और न्यूज़ पेपर में विज्ञापन देना, सड़कों पर होर्डिंग्स लगाना शामिल था, लेकिन आज लगभग सभी कम्पनियां ऑनलाइन मार्केटिंग अपना रही हैं। इसमें सोशल मीडिया मार्केटिंग, इन्फ्लुएंसर्स मार्केटिंग और एफिलिएट मार्केटिंग शामिल हैं।


ऑनलाइन मार्केटिंग के ये सभी फील्ड आज के समय में नए हैं, लेकिन आमतौर पर  लोग  सोशल मीडिया मार्केटिंग के बारे में जानते हैं। आज के इस पोस्ट हम जानेंगे की एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) क्या होती है और आप इसमें कैसे सफल हो सकते हैं

जब कोई कंपनी अपनी मार्केटिंग के लिए किसी वेबसाइट या ब्लॉग पर अपना विज्ञापन करती है, तो उसे एफिलिएट मार्केटिंग कहते हैं। एफिलिएट मार्केटिंग करने के लिए आपके पास आपकी वेबसाइट या ब्लॉग होना ज़रूरी है। कई बार कम्पनियां आपसे संपर्क करती हैं और चाहती हैं कि आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पर उनके किसी प्रोडक्ट या सर्विस के बारे में पोस्ट लिखें। जब आपकी वेबसाइट या ब्लॉग के ज़रिये उस कंपनी के प्रोडक्ट या सर्विस बिकते है, तो आपको भी उसके लिए अच्छा ख़ासा कमीशन मिलता है। इस पूरी प्रक्रिया को एफिलिएट मार्केटिंग कहते हैं।

 

एफिलिएट मार्केटिंग कैसे काम करती है?


ये सवाल का जवाब उन लोगों को जानना बहुत ही जरुरी है जिनकी कोई वेबसाइट, ब्लॉग या यू ट्यूब चैनल हैं. यदि वो भी अपना affiliate start करना चाहते हैं तब तो उनके लिए Affiliate Marketing कैसे काम करता है जानना बहुत ही आवश्यक होता है।


How to Start Affiliate Marketing for Beginners in hindi


अगर कोई company या organization अपने products की sale को बढ़ाना चाहती है तब इसके लिए उन्हें अपने products को promote करना होता है. ख़ासतौर पर इसके लिए उन्हें अपना affiliate program शुरू करना होता है।

Affiliate Marketing का व्यवसाय commission आधारित होता है. जब वह व्यक्ति जो कोई blogger या वेबसाइट owner है उस program को join करता है, तो इस प्रोग्राम को शुरू करने वाली company या organization उसे अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर उनके प्रोडक्ट्स प्रमोट करने के लिए कोई बैनर या लिंक आदि प्रदान करती है.इसके पश्चात उस blogger को अपने blog या website पर उस लिंक या banner को अलग-अलग प्रकार से लगाना होता है।

चूँकि उस blogger या website owner के sites में बहुत सारे visitors daily आते हैं इसलिए ये मुमकिन है की उनमें से कुछ visitor show किये गए offer को click करता है तब वो product based companies के websites में पहुँचता है और कोई चीज़ खरीदता है या किसी service के लिए sign up करता है तो उसके बदले में वह कंपनी या organization उस blogger को इसके बदले में commission प्रदान करती है।


एफिलिएट मार्केटिंग से सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण शब्द


Affiliate marketing में कुछ ऐसे शब्द का इस्तमाल होता है जिनके विषय में हम सभी को जानना बहुत ही जरुरी है. तो चलिए ऐसे ही कुछ definition के विषय में जानकारी प्राप्त करते हैं।

1. Affiliates: 

Affiliates उन्हें कहा जाता है जो व्यक्ति किसी Affiliate program को join करके, उनके products को अपने sources जैसे की blog या website पर promote करते हैं।

2. Affiliate Marketplace: 

ऐसी companies है जो अलग-अलग categories में Affiliate Programs offer करती हैं, उन्हें Affiliate Marketplace कहा जाता है।

3. Affiliate ID: 

यह एक unique ID होती है जो की sign up करने पर प्राप्त होती है। Affiliate Programs के द्वारा हर एक Affiliate को एक unique ID दी जाती है, जो Sales me जानकारियां जुटाने में help करती है. इस ID के मदद से आप अपने Affiliate account में login कर सकते हैं।

4. Affiliate link: 

उस link को कहा जाता है जो की affiliates को product promotion करने के लिए provide किये जाते हैं. इन links को click करके ही Visitors किसी product की website पर पहुँचते हैं, जहाँ वह कोई प्रोडक्ट खरीद सकते है. इन links के द्वारा ही Affiliate program चलाने वाले sales को track करते है।

5. Commission: 

सफलता पूर्वक बिक्री हो जाने के बाद जो Amount उस blogger या फिर जो selling कराता है (affiliate) उसे commission कहा जाता है. ये amount Affiliate को प्रत्येक sale के हिसाब से प्रदान की जाती है. यह sale का कुछ प्रतिशत हो सकता है ।

6. Link Clocking: 

अक्सर Affiliate links लंबे और दिखने में थोड़े अजीब लगते है, इसके लिए ऐसे links को URL shortener का इस्तमाल कर छोटा बनाया जाता है जिसे की Link Clocking कहते हैं।

7. Affiliate मैनेजर: 

कुछ Affiliate programs में Affiliates की मदद के लिए और उन्हें सही सुझाव देने के लिए कुछ व्यक्ति नियुक्त किये जाते है, जो Affiliate मैनेजर कहलाते हैं।

8. Payment Mode: 

Payment पाने की तरीके को Payment Mode कहते हैं. इसका अर्थ है की वह माध्यम जिसके द्वारा आपको आपकी commission दी जायेगी. अलग-अलग Affiliates अलग-अलग modes offer करते हैं. जैसे कि cheque, wire transfer, PayPal इत्यादि।

9. Payment Threshold: 

Affiliate Marketing में affiliates को तब कुछ commission प्रदान किया जाता है जब वो कुछ minimum sale कर लें. इस sales को करने के बाद ही आप payment earn करने लायक बन जायेगे. इसे ही payment threshold कहा जाता है. अलग-अलग programs की payment threshold की amount अलग-अलग होती है।


एफिलिएट मार्केटिंग से पैसे कैसे कमाए


आज के वक़्त में affiliate marketing से बहुत से blogger जुड़े हुए हैं और अच्छी खासी income भी कर रहे हैं, affiliate market के जरिये blog से पैसे कमाने का सबसे अच्छा तरीका है. Affiliate marketing से income करने के लिए हमें कोई भी एक affiliate program में जाकर register करना होगा।


How to Start Affiliate Marketing for Beginners in hindi



Register करने के बाद उनके द्वारा दिए गए ads और products के link को हमें अपने blog पर add करना होगा. हमारे blog पे आने वाले कोई भी visitors जब उस ad पर click करके product को खरीदेगा तो हमें कंपनी के owner से उसका commission मिलेगा।

यहाँ सवाल ये उठता है की ये affiliate program कौन सी कंपनी ऑफर करती है. तो इसका जवाब ये है की internet पर ऐसे बहुत से कंपनी है जो affiliate program ऑफर करती है उनमे से कुछ ऐसे भी हैं जो बहुत ही famous हैं जैसे की Amazon, Flipkart, Snapdeal, GoDaddy, etc

ऐसे सभी तरह के कंपनी affiliate program ऑफर करती है जिसमे आप simply signup या फिर register करके कंपनी के साथ जुड़ सकते हैं और उनके products को choose करके अपने blog पर उसके link या ads को add कर बहुत पैसे कमा सकते हैं. और sign up या register करने के लिए हमें कंपनी को कुछ भी pay नहीं करना पड़ता है।

कौनसी कंपनी affiliate program की service देती है इसका पता आप google में search करके पता लगा सकते हैं।

जैसे किसी एक कंपनी का नाम लिखिए जैसे मान लीजिये amazon और उस नाम के साथ affiliate लिखिए और google में search करिए, अगर वो कंपनी affiliate program ऑफर करती है तो आपको उसका link वहां से मिल जायेगा और आप आसानी से उस कंपनी के साथ जुड़ सकते हैं. लेकिन किसी भी कंपनी से जुड़ने से पहले उसके terms and conditions को जरुर पढ़ें।


Affiliate Program से Payment कैसे मिलती है?


ये अलग अलग affiliate program पर depend करता है की वो अपने affiliates को payment देने के लिए कौनसे modes का support करते हैं. पर लगभग सभी program payment के लिए bank transfer और PayPal का इस्तेमाल जरुर करते हैं. Affiliate program में ऐसे कुछ terms use होते हैं जिसके बिनाह पर affiliates को commission दिया जाता है जैसे

1) CPM (Cost Per 1000 impressions): ये एक amount है जो merchant द्वारा affiliate (यानि की जो उनके product को promote करता है) को उसके blog के page पर लगाये हुए उन products के ad पर 1000 views हुए हैं तो merchant affiliate को उसके बिनाह पर commission देता है।

2) CPS (Cost Per Sale): ये amount affiliate को तब मिलता है जब उसके blog के visitor products को खरीदता है।

3) CPC (Cost per click): affiliate के blog पर लगाये हुए advertisement, text, banner पर visitor के हर click पर उसको commission मिलता है।


Popular Affiliate Marketing sites कौन-कौन सी है ?

Internet पर वैसे तो आपको बहुत सारे affiliate marketing companies उपलब्ध है लेकिन मैं आज आपको कुछ popular और best companies के बारे मे बताऊंगा जो आपको ज़्यादा commission प्रदान करती हैं।


How to Start Affiliate Marketing for Beginners in hindi


किसी भी affiliate program को join करने से पहले आपको उस program से सम्बंधित सभी जानकारी पहले ही प्राप्त कर लेना चाहिए. यदि आप किसी company के affiliate marketing program के विषय में जानना चाहते हैं तब आप किसी भी search engine पर company के नाम के आगे affiliate लिख कर search करना होगा और अगर उस कंपनी का affiliate program होगा तो search results में show करेगा।

Best Affiliate Marketing Sites :
1.  Amazon Affiliate
2.  Snapdeal Affiliate
3.  Clickbank
4.  Commission Junction
5.  eBay


Affiliate Marketing के sites को join कैसे करें?


अगर आप कोई भी Affiliate Marketing Sites को join करना चाहते हैं तब ये आप बड़ी ही आसनी से कर सकते हैं. इसके लिए आपको कुछ steps का पालन करना होगा जिसका पालन करते ही आप आसानी से अपना Affiliate income शुरू कर सकते हैं।

यहाँ निचे में आप लोगों को Amazon की Affiliate कैसे join करें के वैसी में बताऊंगा. सबसे पहले तो आप जिस कंपनी का affiliate program join करना चाहते है उसके affiliate page में जाना है जैसे कि यदि आपको amazon affiliate join करना है तो आपको वहां एक new account create करना होगा जहाँ पर आपसे कुछ ज़रूरी जानकारी पूछी जाती है जैसे की

 Name

 Address

 Email Id

 Mobile Number

 Pancard Detail

 Blog/Website Url ( जहां आप कंपनी के product promote करेंगे)

 Payment Details ( जहां आप चाहते हैं की आपकी सारी earning भेजी जायगी)

सभी जानकारी ठीक से भर देने के बाद जब आप register कर लेते है तो कंपनी आपके blog को check करने के बाद आपको confirmation mail send करती है .Register करने के आप जब login करेंगे तो आपके सामने एक dashboard आयेगा जहां पर आपको products को choose करके उसके affiliate link को copy कर लेना होता है. और उसे अपने blog/site या फिर social media पर share कर देना है जहां से लोग उस product को खरीदे और आप आराम से पैसे कमा सकते हैं।


Top 10 Highest Paid Skills in India in Hindi

Benefits of Learn Digital Marketing Courses in Students | छात्रो के लिए डिजिटल मार्केटिंग कोर्स कैसे लाभदायक है? 

Difference between E-mail Marketing and Affiliate Marketing | ईमेल मार्केटिंग और एफिलिएट मार्केटिंग मे क्या अंतर है?


अंत मे,

आशा है की पूरी पोस्ट पढ़ने के बाद आपको जानकारी मिल गई होगी की Affiliate Marketing क्या है? Affiliate Marketing के द्वारा पैसे कैसे कमाए जा सकते है।


जाने ATM Card पर लिखे 16 डिजिट के नंबर मे बैंक की क्‍या जानकारी छिपी होती है?

What is a Cookies in a Browser | कंप्यूटर में कुकीज़ क्या है?

Who Crated World’s First Password | जाने दुनिया का पहला Password कब और किसने बनाया?


इसे भी पढे

जाने Bank IFSC Code मे दिये गए 11 अंको का क्या मतलब होता है? - New!

जाने की चेक पर रकम के बाद क्यों लिखा जाता है Only| Why written Only after the amount on the Cheque?

जाने नोट पर महात्मा गांधी की तस्वीर कब और कैसे आई?

जाने फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग के जीवन, और सफलता की पूरी कहानी।

जाने भारत का वो कौन सा राज्य है, जहां एक-दो नहीं, बल्कि 5 इंटरनेशनल एयरपोर्ट हैं?

Use of Machine Learning in Hindi with Examples| मशीन लर्निंग के उपयोग ?

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ