Latest Post

6/recent/ticker-posts

Search Engine क्या है तथा यह कैसे काम करता है ?

आज की इस पोस्ट मे आप जानेंगे की Search Engine क्या है तथा यह कैसे काम करता है तो इसे जानने के लिए पूरी पोस्ट को ध्यान से पढे एवं पोस्ट पसंद आने पर Share और Subscribe जरूर करे ताकि मेरी आने वाली सभी Post की Notification आप को मिलती रहे।

Search Engine क्या है?

Search Engine क्या है तथा यह कैसे काम करता है ?
वर्तमान समय Internet का है अगर हमारे मन में कोई भी सवाल उठता हैया किसी प्रकार की कोई confusion होती है अथवा कुछ पढने का मन होता है तो हम उस समय Internet पर सर्च करते है और हमारे सभी सवाल का जवाब तुरंत मिल जाता है लेकिन क्या आपने कभी सोचा है की यह सब कैसे संभव हो पाता है की पूरे इन्टरनेट में से हमारे द्वारा सर्च की हुई जानकारी बस कुछ पलो में ही हम तक पहुच जाती है तो यही कार्य होता है सर्च इंजन का आज के समय में सर्च इंजन हमारे जीवन का बहुत ही बड़ा हिस्सा बन गया है। क्यूंकि हमारे मन में जो भी सवाल आते ही हम सीधे उसे इन्टरनेट पर सर्च करते है और आज इन्टरनेट भी बहुत ज्यादा महँगा नहीं रह गया है। आजकल हम सभी इन्टरनेट से कोई भी जानकारी निकालने के लिए सीधे सर्च इंजन का ही इस्तेमाल करते है। क्यूंकि प्रत्येक वेबसाइट का एड्रेस होता है जिसे याद रखना और उस पूरे एड्रेस को बिना किसी सर्च इंजन के ढूंढ पाना नामुमकिन है क्यूंकि इन्टरनेट का बिस्तार असीमित है और ऐसा बिलकुल भी संभव  नहीं है की आपको सारी की सारी जानकारी बस एक ही वेबसाइट पर मिल जाए।

सर्च इंजन भी दूसरे सॉफ्टवेयर की तरह ही एक सॉफ्टवेयर है जो इन्टरनेट से बहुत सारा डाटा अपने पास एक Database में स्टोर करके रखता है और जब भी आप इसमें कुछ सर्च करते है तो यह अपने Database में देखता है की इस query से समबन्धित कौन-कौन सी वेबसाइट इस पर उपलब्ध है और ढूँढने के बाद आपके सामने उन्हें पेश  कर देता है लेकिन इतने बड़े database में से डाटा को सर्च करने में यह जरा भी देर नहीं लगाता बस यही काम करने के लिए इसे बनाया गया है।

उदाहरण – Google, Yahoo, Bing etc.   

Search engine काम कैसे करता है?

सर्च इंजन गूगलयाहूबिंग आदि से सारा डाटा इकठ्ठा कर लेते है और उसी में से रिजल्ट ढूंढते है सर्च इंजन अपने कामो तीन तरह से करता हैं जो कुछ इस प्रकार हैं।

1. Crawling

यह सर्च इंजन का सबसे पहला काम है इस काम में सर्च इंजन हर नयी वेबसाइट को विजिट करता है crawlers  सारी नयी वेबसाइटस और नए WebPages पर जाते है और उसका सारा डाटा रीड करते है इसके अलावा वे उस webpage पर उपलब्ध links पर भी जाते हैं और उन्हें भी ठीक से रीड करते हैं crawlers द्वारा webpage या वेबसाइट रीड करने की इस प्रोसेस को हम crawling कहते है जब भी सर्च इंजन के पास कोई नया पेज आता है सर्च इंजन उसे तुरंत क्रॉल करते हैं crawling की यह प्रोसेस बहुत Fast होती है।

Crawler 
 एक सेकंड में ही लाखो Pages को Read कर लेते है। यह crawlers एक सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम होता है यह सर्च इंजन का बहुत ही ख़ास हिस्सा होता है क्यूंकि लिंक को यही पहचानता है की लिंक कैसा है इसे database में किस Category में रखा जाए। 

2. Indexing

Search Engine का यह दूसरा काम है जहाँ पर crawlers के द्वारा भेजे गए डाटा की back end process  होती है इसको Database में स्टोर किया जाता है अर्थात crawlers द्वारा Send किया गया डाटा, सर्च इंजन में Index होना शुरू हो जाएगा लेकिन अभी पूरी तरह से नहीं क्यूंकि इन्टरनेट पर ऐसे कई Contents या मिलती जुलती वेबसाइट होती है जो एक ही Keyword के सर्च करने पर आएं इसलिए Search Engine को यह भी decide करना पड़ता है की नया URL या DATA कहा पर Store किया जाए इसलिए सर्च इंजन अभी उसे अपने सर्च में शो नहीं करेगा सिर्फ अपने  Database में स्टोर करके रखेगा।

3. Ranking

सर्च इंजन के डाटा को सर्च में शो करने का यह सबसे बड़ा और जरूरी भाग है क्यूंकि इसी के कारण हमें अपने सर्च रिजल्ट बहुत ही सटीक और सही मिल पाता है.

अन्त में 

आशा है की आपको पूरी पोस्ट पढने के बाद Search Engine क्या है तथा यह कैसे काम करता है से समबन्धित बहुत सारी जानकारिया  मिल गई होगी.

यह भी पढ़े 

Proper use of Email and its Features

Website किसे कहते है तथा Static और Dynamic Webpage में क्या अंतर है ? - New!

What is Cyber Crime and How to protect Cyber Crime in Hindi

What is Search Engine how it works and Serch Engine Types

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां