Latest Post

6/recent/ticker-posts

NEFT और RTGS में क्या अंतर है तथा इनके द्वारा फण्ड ट्रान्सफर करने की न्यूनतम तथा अधिकतम सीमा क्या है

आज की इस पोस्ट मे आप पढेंगे की NEFT और RTGS में क्या अंतर है तथा इनके द्वारा फण्ड ट्रान्सफर करने की न्यूनतम तथा अधिकतम सीमा क्या है, तो इसे जानने के लिए पूरी पोस्ट को ध्यान से पढे एवं पोस्ट पसंद आने पर Share और Subscribe जरूर करे ताकि मेरी आने वाली सभी Post की Notification आप को मिलती रहे। 

NEFT क्या है 

NEFT और RTGS में क्या अंतर है

NEFT का पूरा नाम National Electronic Fund Transfer है. 

NEFT एक राष्ट्रीय स्तर पेमेंट को व्यवस्था है, जो One-to-One फंड्स ट्रान्सफर की सुविधा उपलब्ध कराता है. NEFT को 90 के दशक के अंत में प्रारंभ किया गया था. इसके तहत इन्टरनेट के माध्यम से कोई व्यक्ति, फर्म या कंपनी एक बैंक शाखा से किसी दूसरे बैंक या उसी बैंक की शाखा में किसी व्यक्ति, फर्म या कंपनी के अकाउंट में पैसे को ट्रान्सफर कर सकता है. 

NEFT द्वारा फण्ड ट्रान्सफर करने की सीमा 
  1. इसके द्वारा फण्ड को ट्रान्सफर करने की कोई न्यूनतम या अधिकतम सीमा नहीं होती है. 
    NEFT
NEFT के लाभ 
  1. इसमें भेजने वाले को चेक अथवा डिमांड ड्राफ्ट की आवश्यकता नहीं होती. 
  2. लाभार्थी को कागजी उपकरणों की अपने बैंक में जमा करने के लिए जाने की आवश्यकता नहीं होती है 
    SMS
  3. SMS द्वारा या mail द्वारा भेजे गए प्रेषित प्रेषर की क्रेडिट पुष्टि करता है. 
  4. प्रेषक अपने घर अथवा ऑफिस से इन्टरनेट बैंकिंग का उपयोग करके इसको आसानी से प्रयोग कर सकता है. 
  5. लाभार्थी के अकाउंट में सुरक्षित तरीके से धन का ट्रान्सफर हो जाता है 

RTGS क्या है 

NEFT और RTGS में क्या अंतर है


इसका पूरा नाम Real Time Gross Settlement होता है 
इस व्यवस्था में एक बैंक से दूसरे बैंक में फण्ड का ट्रान्सफर वास्तविक समय में हो जाता है. वास्तविक समय का अर्थ तुरंत से है. 
इस Transaction की न्यूनतम सीमा २ लाख निर्धारित है जबकि इसमें अधिकतम धनराशी की कोई सीमा नहीं होती. 
RTGS की सुविधा मार्च 2004 से संचालित हो रही है इस सुविधा का लाभ पहले केवल सुबह 9 बजे से 4:30 बजे तक संचालित होती थी जो अब 24 घंटे कर दी गई है  

RETGS द्वारा Fund ट्रान्सफर करने की सीमा 

इसके लिए न्यूनतम सीमा २ लाख है और अधिकतम सीमा कोई नहीं है. 

RTGS के लाभ 

  1. यह पैसे को ट्रान्सफर करने के लिए सुरक्षित सिस्टम है 
  2. इसमें व्यक्ति के अकाउंट में धनराशी का वास्तविक समय में ट्रान्सफर हो जाता है 
  3. इसमें किसी प्रकार के पेपर को बैंक में जमा करने की आवश्यकता नहीं होती है 
  4. लेन-देन का शुल्क RBI द्वारा किया गया है. 
  5. सभी प्रकार के लेन-देन का क़ानूनी रूप से समर्थन है. 
  6. इसमें किसी प्रकार की कोई धोखा होने या चोरी होने का कोई भय नहीं होता है. 
अन्त में 
आशा है की आपको पूरी पोस्ट पढने के बाद NEFT और RTGS में क्या अंतर है तथा इनके द्वारा फण्ड ट्रान्सफर करने की न्यूनतम तथा अधिकतम सीमा क्या है, इससे समबन्धित बहुत सारी जानकारिया मिल गई होगी. अगर इससे सम्बंधित कोई भी सवाल हो तो पूछ सकते है जल्द ही हमारी टीम आपके सवालों का जवाब देगी. 
यह भी पढ़े

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां