Latest Post

6/recent/ticker-posts

How to Set Tally Accounting Features in Hindi


How to Set Tally Accounting Features in Hindi

आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम Tally Erp 9 के Accounting Features के बारे मे Hindi मे जानेंगे इससे पहले मैंने Tally Erp 9 के Accounting Features के बारे मे English मे बता चुका हु आप को अगर Hindi Language मे कोई दिक्कत हो तो आप मेरी English Language वाली पोस्ट को भी read कर सकते है। अतः इस पोस्ट को ध्यान से पढे - 

Tally Accounting Features in Hindi

General Features 

How to Set Tally Accounting Features in Hindi

Integrate Accounts and Inventory

इस Option का बैलेंस शीट और प्रॉफिट एण्ड लॉस अकाउंट पर एक महत्वपूर्ण प्रभाव पडता है । यदि यह option Yes पर सेट किया जाता है तो यह इनवेंटरी रिकॉंर्डस से स्टॉक/इनवेटरी बैलेंस के आंकडे निकालता है तथा बैलेंस शीट से स्टॉक रजिस्टर्स के लिए एक Drop down प्रदान करता है। यदि NO पर सेट किया जाता है तो यह इनवेंटरी बहियों के आँकड़ो को उपेक्षित कर देता है और बनाए गए लेजर अकाउंट से closing stock balance को मेन्युअली डालना पडता है। यह सुविधा अकाउंट्स और इनवेंटरी को अलग-अलग व्यवस्थित रखती है ।

Income/Expense Statement instead of P& L 

डिफाल्ट रूप से यह option No पर सेट होता है। यदि yes पर सेट करते हैं तो टैली द्वारा गेटवे ऑफ़ टैली मेन्यू मे Profit and Loss A/c के स्थान पर Income and Expenditure A/c प्रदर्शित किया जाएगा। Income and Expenditure A/c सामान्यत: नॉन ट्रेडिंग अकाउंट्स हेतु प्रयुक्त होता है और Profit and Loss A/c ट्रेडिंग अकाउंट्स हेतु प्रयुक्त होते हैं।

Allow Multi Currency

डिफाल्ट रूप से यह Option No होता है। यदि हम एक से अधिक करेंसी अपनाना चाहते है तो इस विकल्प को Yes पर सेट कर सकते है । 


Outstanding Management Features


Maintain Bill-Wise Details

इस option को Yes पर सेट करते हुए Bill-wise सुविधा को activate किया जा सकता है। Bill-wise फीचर को activate करने पर Sundry Creditors और Sundry Debtors के अंतर्गत लेजर मास्टर्स द्वारा Maintain Balance Bill by Bill नामक एक अतिरिक्त ऑप्शन डिस्प्ले कर दिया जाता है। इस Option को Yes पर सेट करने से एक अतिरिक्त विकल्प डिफाल्ट क्रेडिट पीरियड प्रदर्शित होता है।

जब हम एक्टिवेट किए गए Bill-wise option के साथ Sales और Purchase के ब्यौरे डालते हैं तब टैली हमें इनवॉइस को किसी उपयुक्त रेफरेन्स नम्बर से पहचानने के लिए प्रोम्प्ट करता है। इस रेफरेंस के बाद में सही इनवॉइस हेतु पेमेट्स आवंटित करने के लिए प्रयुक्त किया जाता है, जिससे कितना पैसा बकाया है इसका सही-सही हिसाब रखा जा सके ।

Activate Interest Calculation 

इस option का प्रयोग interest को कैलकुलेट करने के लिए किया जाता है। Use advanced parameters: जब समय-समय पर ब्याज की दरे बदलती रहती हैं तब advanced parameters उपयोगी होता है। यह सुविधा Enable करने हेतु इस विकल्प को Yes पर सेट करे।


Cost /Profit Centers Management Features 


Maintain Payroll 

यदि हम चयनित कंपनी के लिए टैली पर Payroll Information व्यवस्थित करना चाहते है तो इस विकल्प को Yes पर Set करे ।

Maintain Cost Centers 

Cost Center को संगठन की उस इकाई के रूप में परिभाषित किया जा सकता है जिसके लिए ट्रांजक्शन्स पोस्ट किए जा सकते है। जब इन इकाइयों हेतु केवल लागतों या व्ययों को ही आवंटित किया जाता है तब इन्हें कॉस्ट सेंटर्स के रूप में संदर्भित किया जाता है । इस विकल्प को Yes पर Set करते हुए कॉस्ट सेंटर को एक्टिवेट करते है ।

Use Cost Center for Job Costing 

Job / Project के लिए सभी आय और व्यय का हिसाब रखने हेतु इस विकल्प को Yes पर Set करे ।

More than one Payroll/Cost Category: 

एक से अधिक Payroll अथवा Cost Category बनाने के लिए इस option को Yes पर Set करे ।

INVENTORY FEATURES

General Features 

How to Set Tally Accounting Features in Hindi

Integrate Accounts and Inventory

यह फील्ड भी अकाउंटिंग फीचर्स में वर्णित किए गए कार्यों को ही निष्पादित करती है।

Allow Zero Valued Entries
यदि हम 0 Value की Entry करना चाहते है तो इस ऑप्शन को Yes पर सेट किया जाता है।

Storage and Classification Features 


Maintain Multiple Godowns 

यदि हमारे पास एक से अधिक Stock Point / Godown आदि विद्यमान हैं और हम इन लोकेशन्स के मध्य होने वाले स्टॉक के संचालन का हिसाब-किताब रखना चाहते हैं तो इस Options को Yes पर सेट करे। हमारे द्वारा इस options को Yes पर सेट किए जाने बाद ही Gateway of Tally>Inventory info मैन्यू में गोडाउन्स पर stock options प्रदर्शित किया जाएगा। हम प्रत्येक लोकेशन पर अपने स्टॉक्स की पहचान करने में सक्षम होने के साथ ही साथ वाउचर एंट्री के दौरान एक अथवा अधिक लोकेशन्स के लिए स्टॉक संचालन प्रदान कर पाएँगे।

Maintain Stock Categories

यदि हम स्टॉक केटैगरीज बनाना तथा व्यवस्थित रखना चाहते हैं तो इस options को Yes पर सेट करे। यह Stock item creation स्कीन के अंतर्गत एक नई फील्ड Category की रचना करेगा।

Maintain Batch Wise Details 

Stock Items से संबंधित Batch Information’s को व्यवस्थित रखने हेतु इस options को Yes पर सेट करें| stock item creation स्कीन के अंतर्गत एक नई फील्ड Use expiry dates प्रदर्शित कर दी जाएगी।

Set Expiry Dates for Batches 

यदि हम Batches हेतु Expiry Date Set करना चाहते है तो इस options को Yes पर सैट करे यह stock item creation स्कीन के अंर्तगत एक अतिरिक्त फील्ड Use expiry dates Show करेगा। यह उन व्यवसायों के लिए उपयोगी होता है जो एक्सपायरी डेट्स वाले माल जैसे कि दवाइयाँ, भोजन और अन्य नाशवान पदार्थों का व्यापार करते हों। वाउचर एंट्री के दौरान डिफाल्ट रूप से वाउचर की दिनांक को ही उत्पाद के निर्माण की दिनांक के रूप में माना जाता है। इस दिनांक को परिवर्तित किया जा सकता है परंतु वाउचर दिनांक के बाद वाली किसी दिनांक पर नहीं। ठीक इसी तरह से एक्सपायरी दिनांक पर वाउचर दिनांक से पहले की दिनांक नहीं डाली जा सकती है।

Use Different Actual & Billed Qty

यदि हम इनवॉइस तैयार करते समय actual और billed Quantity को अलग-अलग रखना चाहते है तो इस options को Yes पर सेट किया जाता है।


Order Processing Features 

Allow Purchase Order Processing 

Purchase Orders बनाने हेतु यह options yes पर सेट करें। 

Allow Sales Order Processing

Sales Orders बनाने हेतु यह options yes पर सेट करे। 

Invoicing Features 

Allow Invoicing 

यह फील्ड भी अकाउंटिंग फीचर्स में वर्णित कार्यों का ही निष्पादन करती है।

Use Debit/Credit Notes 

यह फील्ड भी तब set की जाती है जब हमे Purchase Return और Sales Return की Entry करनी होती है। 

Purchase Management Features 


Track Additional of Purchase

यह फील्ड भी अकाउंटिंग फीचर्स में वर्णित किए गए कार्यों का ही निष्पादन करती है!

Sales Management Features 


Use Multiple Price Levels 

Multiple Price Levels निर्मित करने हेतु इस विकल्प को Yes पर सेट किया जाता है।

                         Additional Inventory Vouchers


Use Tracking Numbers (Delivery/Receipt Notes) 

यदि हम डिलीवरी नोट्स और invoice / bills के मध्य संबंध बनाए रखने के लिए ट्रेकिंग नम्बरों का उपयोग करना चाहते हैँ तो इस विकल्प को Yes पर सेट करे। यह परचेज और सेल्स दोनों के लिए उपलब्ध है।

Use Rejection Inward/Outward Notes 

यदि हम माल की Rejection का रिकॉर्ड किसी सामान्य डेबिट नोट या क्रेडिट नोट के माध्यम से नहीं बल्कि अलग से रखना चाहते तो इस विकल्प को Yes पर सेट करे।


Statutory and Taxation Features in Hindi

How to Set Tally Accounting Features in Hindi

  1. Enable Goods & Service Tax (GST)
  2. Enable Value Added Tax (VAT)
  3. Enable Excise Tax 
  4. Enable Service Tax (ST)
  5. Enable Tax Deducted at Source (TDS)
  6. Enable Tax Collected at Source (TCS)

इन सभी Tax options को अपनी आवश्यकतानुसार Enable कर सकते है। 

अंत मे 

आशा है की आपको Tally Features का ज्ञान हो गया होगा। अगर Tally से संबन्धित कोई भी सवाल हो तो मुझे comment कर पूछ सकते है हमारी Team जल्द ही आपके पूछे गई सवाल का जवाब आपको देगी इसके लिए आप हमारी website को subscribe जरूर करे। 

Also Read 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां