Latest Post

6/recent/ticker-posts

Difference Direct and Indirect Expenses in tally in hindi

इस पोस्ट मे हम बात करने वाले है, कि  Direct and Indirect Expenses में क्या अंतर है तथा व्यापार में कौन - कौन से Expenses Direct Exenses कहलाते हैं तथा कौन से Indirect Expenses तो इसे समझने के लिए पूरी पोस्ट को ध्यान से पढ़े.  

Difference Direct and Indirect Expenses in tally in hindi

Accounting मे खर्चों को दो भागों में विभाजित किया गया है:- 1. प्रत्यक्ष व्यय (Direct Expenses)  2. अप्रत्यक्ष व्यय (Indirect Expenses)

Direct Expenses किसे कहते है

Direct Expenses को हिंदी में प्रत्यक्ष व्यय कहते है।  किसी भी व्यापार में Direct Expenses से मतलब ऐसे खर्चो से होता है जो सामान के खरीदने अथवा सामान को बनाने के समय लगता है। जैसे :- यदि व्यापार में वस्तु का निर्माण होता है तो वस्तु के निर्माण के समय लगने वाले खर्चे जैसे :- Wages, Electricity charges, carriage, frieght, Gas & Fuel आदि तो इस प्रकार के खर्चो को Direct Expenses कहा जाता है।


Direct Expenses List  

Direct Expenses की लिस्ट में इन खर्चो को शामिल किया गया है :-

1.    Manufacture expenses

2.    Wages

3.    Gas & Fuel

4.    Raw material

5.    Freights

6.    Carriage inwards 

7.  Electricity Bill etc

 

Savings Bank और Current Bank Account के बीच में क्या अंतर है?

Direct Expenses को P/L Account में कहा लिखा जाता है   

सभी तरह की Direct Expenses  को  P/L Account में व्यापार खाते (Trading Account) मे Debit Side (Dr.) में लिखा जाता है।

Difference Direct and Indirect Expenses in tally in hindi

 

Indirect Expenses किसे कहते है।

 

Indirect Expenses को हिंदी में अप्रत्यक्ष व्यय कहा जाता हैं।  व्यापार में अप्रत्यक्ष व्यय (Indirect Expenses) से मतलब ऐसे खर्चो से है जो सामान को खरीदने से संबंधित नहीं होते हैं Indirect Expenses  उन खर्चों को कहा जाता है जो सामान खरीदने  के बाद या सामान के निर्माण होने के बाद लगते हैं। जैसे :- व्यापार में सामान को बेचने अथवा व्यापार के प्रचार की लिए उसका Advertisement करना  हो तो Advertisement Expenses कहलाता है इसी प्रकार से सामान को रखने के लिए Godown की आवश्यकता होती है उसके लिए हमें Godown को Rent पर लेना होता है इसलिए Godown Rent आदि इसी प्रकार के खर्चों को Indirect Expenses कहा जाता हैं। indirect Expenses की लिस्ट नीचे दी जा रही है जिसे आप पढ़कर समझ सकते है की कौन-कौन से खर्चे Indirect Expenses के अंतर्गत आते है :-

 Tally First Chapter-How to create Company, Alter, Select, Shut and Delete Company

Tally Groups Details in Hindi with Example

Indirect Expenses List  

1.    Office Expenses

2.    Salaries

3.    Audit fees

4.    Bank Charges

5.    Office Rent

6.    Depreciation

7.    Charity

8.    Postage Expenses

9.    Stationery

10.    Travelling Expenses

11.    Interest Paid On Loan

12  Discount

13.    Carriage Out Ward

14. Advertisment

15.    Packing Expenses

16.    Commission Paid

17.    Printing Expenses

18.    Bad Debts

19.    Discount Allowed

20.    Repair Expenses

21.    Insurance Premium

22.    Legal Expense

23.    Interest On Bank Loan etc

Indirect Expenses को P/L Account में कहा लिखा जाता है   

सभी तरह की Indirect Expenses  को  P/L Account में Debit Side (Dr.) में लिखा जाता है।

Tally मे Company का Backup कैसे ले तथा Company Restore कैसे करे?

What is Balance Sheet in Tally in Hindi - New!

आयकर रिटर्न किसे कहते है, आईटीआर फाइल करने के फायदे

जाने Tally मे नया Password तथा User कैसे Create करे?

अन्त में

आशा है की पूरी पोस्ट पढने के बाद आपको Direct and Indirect Expenses के बीच में अंतर समझ में आ गया होगा. अगर इस पोस्ट से सम्बंधित कोई भी सवाल हो तो पूछ सकते है जल्द ही हमारी टीम आपके सवालों का जवाब आपको देगी.

 

टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां