Latest Post

6/recent/ticker-posts

Difference between Mangal Typing and kruti Dev Typing in Hindi

Difference between Mangal Typing and kruti Dev Typing in [Hindi]


जायदातर स्टूडेंट्स मुझसे एक सवाल पूछते है की सर Mangal Typing and kruti Dev Typing में क्या अंतर है तो आज की इस पोस्ट के माध्यम से Mangal Typing and kruti Dev Typing में क्या अंतर है ? होता है वह मैंने समझने की कोशिश  की है मुझे आशा है।  की इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको दोनों में अंतर पता चल जायगे।  

Difference between Mangal Typing and kruti Dev Typing in Hindi


    Mangal Typing [मंगल टाइपिंग] 

    मंगल टाइपिंग, यूनिकोड, देवनागरी  या इन्स्क्रिप्ट टाइपिंग यह सब हमारे इंडिया की भाषा है जैसे English लैंग्वेज United State की भाषा है उसी तरह हमारे इंडिया की लैंग्वेज देवनागरी या इन्स्क्रिप्ट कही जाती है।  आज लगभग सभी सरकारी परीक्षा की टाइपिंग टेस्ट में इसी लैंग्वेज मंगल टाइपिंग, यूनिकोड, देवनागरी  या इन्स्क्रिप्ट टाइपिंग की मांग की जाती है. 

    Kruti Dev Typing [कृति देव टाइपिंग ]

    kruti Dev Typing या टंकड़ टाइपिंग इस टाइपिंग को हम हिंदी टाइपराइटर वाली टाइपिंग भी कह सकते है।  अब इस टाइपिंग का प्रयोग लगभग विज्ञापन वाली कंपनी में रह गया है उसकी वजह या है की kruti Dev फॉण्ट में तरह -तरह की डिज़ाइन होती है  जैसे - kruti Dev १०, kruti Dev१६ , kruti Dev ४५, kruti Dev ४० इत्यादि।उत्तर प्रदेश के  कुछ विभागों में ही इस फॉण्ट पे टाइपिंग की  जाती है।  इसलिए उत्तर प्रदेश की सरकारी विभागों में इस टाइपिंग की डिमांड होती है।  जैसे - उत्तर प्रदेश  कारपोरेशन, UPSSSC इत्यादि। 

    Difference between Mangal Typing and kruti Dev Typing in Hindi

    Increase Typing Speed in minimum time [कम समय में टाइपिंग स्पीड कैसे बढ़े]

    Difference between Mangal Typing and kruti Dev Typing 

    [मंगल टाइपिंग और कृति देव टाइपिंग में अंतर ]


    अब  आपको दोनों टाइपिंग में अंतर बताता हु अगर आप कृति देव फॉण्ट में कोई पैराग्राफ टाइप करते है और उसे किसी मेल करते है और उसके कम्पुयटर में कृति देव फॉण्ट स्टोर नहीं है तो आपके द्वारा भेजा गया पैराग्राफ उसे इंग्लिश भाषा  नज़र आएगा जो मेल करने वाले व्यक्ति को समझ में नहीं आएगा क्योकि उसके सिस्टम में वो फॉण्ट स्टोर नहीं है जिसमे अपने पैराग्राफ टाइप कर भेजा है और वह कंफ्यूज हो जायेगा की क्या मेल किया गया है।  इसके विपरीत अगर आपने मंगल भाषा में टाइप कर पैराग्राफ भेजा है तो कोई जरूरत नहीं है जैसा अपने पैराग्राफ  भेजा है उसे वैसे ही नज़र आएगा क्योकि हमारे कम्पुयटर में सभी कंट्रीस की भाषा डिफ़ॉल्ट रूप से पहले से ही स्टोर  होती है जिसे हम मोबाइल में भी रीड कर सकते है क्योकि मोबाइल में भी सभी कंट्रीस की भाषा पहले ही स्टोर होती है इसलिए हम मोबाइल से आसानी  से हिंदी भाषा में msz कर लेते है।


    10 Differences between Kruti Dev and Mangal Fonts 

    1- मंगल फॉन्ट यूनिकोड है, जबकि कृति देव फॉन्ट यूनिकोड नहीं है, यदि आप कृति देव पाठ को कॉपी करते हैं और इसे मेल में पेस्ट करते हैं तो यह अपने वास्तविक रूप में आता है क्योंकि कृति देव हिंदी का दृष्टिकोण है। 

    2- मंगल फ़ॉन्ट के लिए देवनागरी नाम के विशेष लेआउट की आवश्यकता होती है, जबकि कृति देव को विशेष लेआउट की आवश्यकता नहीं होती है
    3- यदि आप यह लिखना चाहते हैं कि मंगल फॉन्ट में तो आपको पहले फर्स्ट लिखना होगा, जबकि क्रुतिदेव में आपको फिर आई लिखना होगा

    4- मंगल फॉन्ट में आधा वर्ण D के साथ टाइप किया जाएगा, जबकि कृति देव में आधा लैटर शिफ्ट के साथ टाइप किया जाएगा।

    ५- मंगल फॉन्ट में ज्यादातर आधे पात्र दादा जैसे पूर्ण चरित्र के साथ विलीन हो जाते हैं, जबकि कृति देव में कोई भी आधा चरित्र नहीं होता है. 

    ६- मंगल में फॉन्ट कोड का उपयोग केवल विशेष वर्ण के लिए किया जा सकता है, जबकि कृति में कोड लगभग वर्ण और विशेष वर्ण के लिए भी उपयोग किया जा सकता है।

    ७- कृति देव फ़ॉन्ट की तुलना में मंगल फ़ॉन्ट में वर्ण कम हैं।

    ८- कृति देव  फॉण्ट की तुलना में मंगल फॉण्ट में टाइपिंग आसानी से तथा  कम समय में सीखी जा सकती है।  

    ९-  वर्तमान समय में लगभग सभी सरकारी परीक्षा में मंगल टाइपिंग की ही मांग है जबकि कृति देव की कम।  

    १०- मंगल टाइपिंग में हिंदी के कोड कम है जबकि कृति देव में अत्यधिक कोड है जैसे ऊ मंगल टाइपिंग में कीबोर्ड से ही बन जाता है जबकि कृति देव फॉण्ट में इसे बनाने के लिए हमे Alt + 0197 का प्रयोग करना पड़ता है. 

    अंत में 
    आशा है की अब आपको Mangal Typing and kruti Dev Typing में क्या अंतर है समझ में आ गया होगा। 

    Increase Typing Speed in minimum time [कम समय में टाइपिंग स्पीड कैसे बढ़े]
    Full details of Ms Word Menu Bar Functions

    टिप्पणी पोस्ट करें

    0 टिप्पणियां